Home Bio-Graphy Bhagwan Shri Ram Jeevani- Ram Navmi

Bhagwan Shri Ram Jeevani- Ram Navmi

0 second read
0
0
59

राम नवमी, हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है, जो भगवान श्री रामजी के जन्मदिन के अवसर को मनाता है। राम नवमी को भारत भर में उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार हमें भगवान रामजी के जीवन और उनके अद्वितीय गुणों का समर्थन करता है।

भगवान श्री रामजी का जन्म अयोध्या में हुआ था। उनके पिता का नाम राजा दशरथ और माता का नाम कौशल्या था। रामजी का जन्म चैत्र मास के नवमी तिथि को हुआ था, जिसे हम आज राम नवमी के रूप में मनाते हैं। उनका जन्मस्थान अयोध्या के एक राजमहल में हुआ था, जिसे आज भी राम जन्मभूमि के रूप में जाना जाता है।

edd77f3d9f98e6d770d5f036a0637876

रामजी के जन्म के पश्चात, उन्होंने अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण अध्याय अयोध्या के राजा के रूप में जीता। उन्होंने अपने पिता के वचन का पालन करते हुए वनवास जाने का निर्णय किया और 14 वर्षों तक अपने परिवार के साथ वन में रहा। उनका वनवास जीवन हमें संघर्ष का सामना करने के लिए प्रेरित करता है, लेकिन उन्होंने धर्म के प्रति समर्पण का उत्कृष्ट उदाहरण प्रदान किया।

राम नवमी के दिन, लोग भगवान रामजी के जन्मदिन को उत्सव के रूप में मनाते हैं। मंदिरों में भजन-कीर्तन होता है, पूजा की जाती है, और लोग धार्मिक ग्रंथों के पाठ करते हैं। इस दिन को समर्पित किए गए भजनों और कथाओं के माध्यम से लोग रामायण के किस्से और भगवान रामजी के जीवन के महत्वपूर्ण घटनाक्रमों को याद करते हैं।

राम नवमी का त्योहार हमें धर्म, संघर्ष, और समर्पण के महत्व को समझाता है और हमें भगवान श्री रामजी के आदर्शों के अनुसार जीने की प्रेरणा देता है। इस अवसर पर, हमें धर्मनिष्ठा और समर्पण के साथ जीवन जीने का संकल्प लेना चाहिए ताकि हम भगवान श्री रामजी की शिक्षाओं का पालन करते हुए एक सजीव और धार्मिक जीवन जी सकें।

Load More Related Articles
Load More By Niti Aggarwal
Load More In Bio-Graphy

Leave a Reply

Check Also

“प्रशांत किशोर: एक जीवन यात्रा” (Prashant Kishor: Ek Jeevan Yatra)

प्रशांत किशोर, भारतीय राजनीतिक रणनीतिकार और चुनाव प्रबंधक, का जन्म 20 मार्च 1977 को बिहार …