Home Satkatha Ank कहानी के द्वारा वैराग्य – Quietness by Devotional story

कहानी के द्वारा वैराग्य – Quietness by Devotional story

6 second read
0
0
79

कहानी के द्वारा वैराग्य

एक दासी नित्यप्रति महारानी की सेज बिछाया करतीं । एक दिन उसने खूब ही सजाकर सेज बिछायी । गरमी के दिन थे। नदी-किनारे के महल मेँ ठंडी हवा आ रही थी । दासी थकी हुईं थी, वह जरा सैज पर लेट गयी । लेटते ही बेचारी को नींद आ गयी । कुछ देर मेँ महारानी आयी। उसने आते ही जो दासी को अपनी सेज़ पर सोये देखा तो क्रोध से आग बबूला हो गयी और दासी को जगाया। दासी बेचारी डर के मारे काँपने लगी । महारानी ने उसे कोड़े लगाने शुरू किये । दो-चार कोड़े लगे तब तक तो वह उदास रही और रोती रही ।
Motivational Devotional Stories in hindi
पीछे उसका मुख प्रसन्न हो गया और वह हँसने लगी । महारानी को बडा आश्चर्य हुआ। उसने प्रसन्नता का और हँसने का कारण पूछा। तब दासी ने कहा…महारानी जी ! कसूर माफ हो, मुझे इस बात पर हँसी आ गयी कि मैं एक दिन थोडी-सी देर के लिये इस पलंग पर सो गयी, जिससे मुझ पर इतने बेभाव कोड़े पड़ रहे हैं । ये महारानी रोज इस पर सोती हैँ, इन पर पता नहीँ कितने कोड़े पड़ेगे । तब भी ये समझ नहीं रही हैँ और अपने भविष्य पर ध्यान न देकर मुझे मार रही हैं। आपकी इस बे समझी पर मुझे हसीं आ गयी।
एक नाई ने किसी राजा साहब के तेल मलते मलते यह कहानी कही और इसी से उनको वैराग्य हो गया और वे राज छोडकर घरसे निकल पडे।
Load More Related Articles
Load More By amitgupta
Load More In Satkatha Ank

Leave a Reply

Check Also

What is Account Master & How to Create Modify and Delete

What is Account Master & How to Create Modify and Delete Administration > Masters &…